livedosti.com

मेरी जूनियर क्या मस्त माल है

हेल्लो नमस्कार मेरे प्यारे दोस्तो, अन्तर्वासना, कामुकता और हिंदी चुदाई की कहानी के दुनिया में आपका स्वागत है.. आप सब कैसे है, मुझे यह जान कर बहुत अच्छा लगता है कि आप सबको मेरी कहानी बहुत पसंद आ रही है। मुझे उम्मीद है कि आप सब इस तरह से मुझे प्यार और समर्थन देते रहेंगे और मेरी कहानी को पसंद करते रहेंगे। और मुझे मेल और मेरी कहानी को लइक करते रहेंगे ।मै इस साईट का 2012 से नियमित पाठक हू।

मेरा नामं सन्दीप सिंह है और मेरी उम्र 26 साल है ,मै दिल्ली मे जॉब करता हू। वैसे मै उत्तर प्रदेश के एक शहर कानपुर का रहने वाला हू। यंहा मै अपने दोस्त के साथ एक सरकारी घर मे रह्ता हू। मेरी हाईट 5,7 इन्च है और मेरा शरीर बिल्कुल फिट है..

उसकी वजह ये है की मै प्रतिदिन एक्सरसाइज करता हू। मै पहले भी अपनी कहानी मे बता चुका हू कि मेरे लण्ड का साइज़ करीब 7 इन्च लम्बा और करीब 2.5 इन्च मोटा है।

Antarvasna Desi kahani – असंतुष्ट आंटी की गुलाबी चूत

मै ज्यादा समय ना लेते हुए आज कि कहानी पर आता हू जो मेरे और मेरी जूनियर के बीच हुआ।

मेरी उस कमसिन जूनियर का नामं अंकिता था ( बदला हुआ नामंं)। ये बात तब की है जब मै कम्प्तीसन कि तैयारी के लिये एक कोचिंग मे दाखिला लिया। और मै वहा रह के तैयारी करने लगा। एक दिन मै फेसबुक चला रहा था ।कि उसमे मेरी एक जुनियोर दिखी जिसे मै पहले से लईक करता था।

लेकिन उसे कभी मैने कहा नही। क्यो कि पहले से ही उसका एक बॉय फ्रेंड था। जो उसी कि कक्षा मे पढता था।मैने उसे फब मे रेक़ुएस्ट भेज दी। तो उसने ऐक्सेप्ट कर लिया।फिर धीरे धीरे हमरी बात होने लगी। एक दिन मैने उसके बॉय फ्रेंड के बारे मे पुछा तो उसने बतया कि उसका ब्रेकुप हो गया है। बहुत दिनो पहले इस समय वो सिंगल ही अछी है।

ऐसे ही हमारी रोज बाते होने लगी। मै उसे पसंद करता हू ये बात वो पहले से जानती थी । मै तो उसके बारे मे बताना भूल ही गया।

Antarvasna Desi kahani – पड़ोसवाली भाभी की गुलाबी चुत

अन्किता कि हाईट करीब 5’4 इन्च रही होगी। उसका साइज़ 32 ’28’30 था। जो किसी के भी लण्ड को खडा कर दे।
चेहरे पे कोई दाग नही । बिल्कुल गुलाबी होंठ जो हर किसी को पीने के लिये ललचाय ।

अन्किता को एक शब्द मे कहू तो वो बहुत खुबसूरत लडकी थी। जिसे हर कोई अपना बनाना चहता था। काई महीनो बात करने के बाद मैने उसे प्रोपोज किया।और उसने हमम कह दिया। मै उससे जब भी मिलता तो किस्स करता और उसके बूब्स को सहलता। ह्म्ं अक्सर ये काम मूवी के बीच मे करते।

लेकिन हमे सेक्स करने का मौका नही मिलता था।एक दिन उसकि फ्रेंड का जन्मदिन पर हमे ये सब करने का मौका मिला ।मै उसकि फ्रेंड कि पार्टी से उसे अपने दोस्त के रुम मे ले गया जो पास मे ही था। उसने रेड कलर का टॉप और ब्लैक जीन्स पहनी थी। रुम मे जाते ही हमम दोनो एक दुसरे को किस्स करने लगे।अन्किता को मैने अपनी बांहो मे ले लिया।

ह्म्ं एक दुसरे को पीने लगे। धीरे से मैने उसके टॉप को निकाल दिया । अन्किता ( बदला हुआ नामं) ने सफेद रंग कि ब्रा पहन रखी थी। मै धीरे धीरे उसके बूब्स को पीने लगा और दुसरे को हाथ से सहलाने लगा।

Antarvasna Desi kahani – ससुराल में तीन लंड और मैं अकेली

उसके बूब्स बिल्कुल मुलायम थे ।अन्किता के मुह से मादक अवाज निकाल रही थी जो मुझे और जोश दिला रही थी।

मैने धीरे से उसकी जीन्स भी निकाल दी।उसने वाइट कलर की पैंटी पहंन रखी थी। होंठो से पेट को चुमता हुआ पैंटी के उपर से ही उस्की चुत को सुघाने लगा।बहुत ही अछी खुस्बू आ रही थी।मै उसे पीने लगा।धीरे से उसकि पैंटी निकाल दी । अन्किता की चुत मे हल्के हल्के बाल आये हुए थे।जैसे उसने एक वीक पहले ही चुत को साफ किया हौ।

मै उसकी चुत को पीने लगा ।जैसे ही मैने उसकी चुत मे जीभ डाली ।वो अचानक से मेरा सर आपनी चुत मे दबने लगी।
मै पहले भी बाता चुका हू की मुझे चुत को चाटन बहुत पसन्द है। मैने आपने कपडे निकल कर उसे अपना लण्ड उसके हाथ मे दे दिया।और उसे मुह लेने के लिये बोला ।पहले तो उसने मना किया लेकिन फिर मुह मे लेकर आइस्क्रीम की तरह चाटने लगी।

मैने अन्किता को 69 होने के लिये बोला। उसकी चुत को अपने मुह मे रख कर पिने लगा और अन्किता मेर लण्ड मुह मे लेके पीने लगी।करीब 20 मिनट तक हमम एक दुसरे को पिटे रहे। इस दौरान उसने एक बार झड़ गयी। फिर मैने आन्किता को निचे लिया और उसके चुतडो के निचे तकिये को रखा।

Antarvasna Desi kahani – सुहागरात की कहानी मेरी जुबानी

लण्ड को उसकी चुत पे रख के रगाड़ाने लगा।फिर अचानक अन्किता की चुत मे लण्ड को पेल दिया। मैने उसके मुह को अपने मुह से दबा के रखा था।जिससे अन्किता की अवाज बहर ना जा पाये। अन्किता की आंखो से आंशु निकालने लगे। मै कभी उसके होंठो को पीता कभी उसके बूब्स को।

धीरे धीरे उसकि चुत मे लण्ड को आगे पीछे करने लगा ।जिससे अन्किता को भी मजा आने लगा। वो अपने चुतडो को चलाने लगी।उसकि अवाज मे मादकता बदती ही जा रही थी।करीब आधे घन्टे की चुदाई के बाद मैने अपना पानी उसकि चुत मे ही डाल के उसी के उपर लेता रहा।