पहले प्यार को दिया धोखे का अंजाम

मेंने एक उँगली उसकी चूत मे डाली वो उचकने लगी और बोली संजय प्लीज मत कर निकाल इसे प्लीज में ओर ज़ोर से करने लग गया वो बोली कुत्ते क्यों कर रहा है मेंने दूसरी उँगली भी उसकी चूत मे डाल दी वो चिल्ला उठी..

मामी के साथ अनोखा रिश्ता

उनका ब्लाउज अपने होठों से खोला और ब्रा खोलने से पहले मैंने उनकी चिकनी पीठ को खूब चाटा। फिर ब्रा खुलने के बाद उनकी बॉडी का ऊपर का शरीर देखकर में सिहर उठा और सारे बदन में कंपकपी छूट गई और उनके निपल्स को खूब चूसा और चाटा..

गोवा के बीच पर गर्लफ्रेंड के साथ की मस्ती

मैंने अपने कपडे निकाल दिए जिससे मेरा 6 इंच लम्बा लंड उसके सामने आ गया | वो मेरे लंड को देखकर इतनी उतावली सी हो गयी और मेरे लंड को अपने हाथ में पकड कर मुंह में रख लिया | वो मेरे लंड को मुंह में रख कर चूसने लगी…

दोस्त की चुत

दोबारा से ताकत लगाते हुए उसकी चूत में अपना लंड घुसाया, तो इस बार लंड अन्दर तक घुसता चला गया. उसको काफी दर्द होने लगा था. चूंकि मेरा भी पहली बार था, तो मुझे भी बहुत दर्द हो रहा था. लेकिन चुदाई की उत्तेजना इतनी ज्यादा थी..

स्वीटी भाभी की स्वीट चुदाई

उन्होंने मेरा लंड 15 मिनट तक चूसा अब मैं झड़ने वाला था | मैंने कहा भाभी मैं झड़ने वाला हूँ | वो मेरे लंड को चुस्ती रही और मैं उनके मुहँ में ही झड गया | मैंने उनकी नाभी पर किस करते हुए मैने उनकी पैंटी के ऊपर से उनकी चूत पर किस किया और उनकी पैंटी उतार दी …

बीवी और डोली भाभी

मेरा लंड उसकी चूत में पूरा का पूरा सटा सट अंदर बाहर हो रहा था. 10 मिनिट की चुदाई के बाद प्रिया फिर से झड़ गयी. मैने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाल लिया तो उसने मेरे लंड को तुरंत पकड़ लिया और कहने लगी, बाहर क्यों निकाल रहे हो. अभी मुझे और मज़ा लेना है…

ट्रेनिंग के दौरान किया चुदाई

वह मुझे इतना समझा रही थी लेकिन मेरे दिमाग में कुछ भी बात नहीं घुस रही थी। मैं सिर्फ उसके होठों को देख रहा था और उसके बड़े बड़े स्तनों को देखे जा रहा था। मैंने उसे कसकर पकड़ लिया और अपने नीचे दबोच लिया। वह छटपटाने लगी लेकिन मैंने उसके होठों को अपने होठों में..

चूत के रस ने बुझाई लंड और अन्तर्वासना की आग

हैलो दोस्तों मेरा नाम अभिलाष है और मैं जगदलपुर का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 25 साल है और मैं बहुत ही चुदक्कड किस्म का इंसान हूँ | मैं आए दिन कोई न कोई … >> पूरी कहानी पढ़ें

Chalti Train Mein Ho Gaya Kand

मेरा नाम शान हे. में चाची के घर से वापस नागपुर मेरे कॉलेज जा रहा था. अचानक जाना हुआ इसलिए रिज़र्वेशन नही मिला. मैने सोचा अकेला हूँ समान भी नही है जनरल में ही चला … >> पूरी कहानी पढ़ें