আমি আপনাকে লিঙ্গ করতে চান

আমার বয়স তখন ২২, কলকাতায় থাকি আর পড়াশোনা করি। আমার মাসির বাড়ি হুগলী ডিস্ট্রিক্টে, ওদের বাড়িতে দুর্গাপূজা হয়। আমাকে যেতে বলেছিল, তাই আমি গেছিলাম আর ঘটনাটা ওখানেই ঘটে। এর আগে অভিজ্ঞতা বলতে সিনেমা হলে গার্লফ্রেন্ডদের দুদু টেপা ও গায়ে সামান্য হাত দেওয়া ছাড়া আর বিশেষ কিছু নয়। মাসির বাড়ি গ্রামে, অনেক রিলেটিভ। bangla choti golpo … Read more….

छोटी मेम आइ लव यू

काम के सिलसिले में लुधियाना अक्सर जाना रहता था ! वहीं कुकरेजा साहब को नौकर की ज़रूरत थी तो सोचा क्यों न मैं ही लग जाऊँ ! साहब का बड़ा कारोबार था ! वो अक्सर विलायत में रहते थे और मेमसाहब हमेशा पार्टी क्लब में रहती थी ! उनकी एक बेटी थी .. बेटी क्या … Read more….

बीवी के बाद साली चुद्वाकर माँ बनी

मेरी प्यारी बीवी मेरे बेटे की डेलिवरी के वक्त इस दुनिया मे मुझे अकेला छ्चोड़ कर चली गयी. मनीषा के गुजर जाने से मैं बिल्कुल अकेला हो गया था. और वैसे भी मैं शालिनी को बहुत प्यार करता था और उसकी कुँवारी चूत की सील तोड़ने के बाद एक भी दिन ऐसा नही गया जब … Read more….

गैर मर्द से चुत चुदवाई

पापा ने कहा कि वो नहीं जा पाएँगे, उनको ऑफीस के काम से बाहर जाना है। तभी मम्मी गुस्सा हो गई, उन्होंने कहा ठीक है आप मना कर दो फोन पर, में मना नहीं कर सकती। पापा ने कहा ठीक है में मना कर दूँगा। फिर उन्होंने दादी को कॉल किया और कहा कि हम … Read more….

चाची की मस्त रसीली चूत

मेरा नाम मितेश है और मेरी उम्र 20 है में पूना में रहता हूँ. हमारी जॉइंट फेमिली है और बड़ा घर है. मेरी बड़ी चाचीजी की उम्र 29 है वो बहुत ही खूबसूरत फटका है उनको देखते ही मेरा मन और लंड दोनों सेक्स करने का बेताब हो जाता है… यह बात आज से 2 साल पहले … Read more….

तीन मोटे लंड और मम्मी की अकेली चूत

हाय दोस्तो, मैं आज आपके सामने एक सच्ची हिंदी एडल्ट स्टोरी प्रस्तुत कर रहा हूँ जो मेरी अपनी मम्मी की है. वैसे तो सभी लोग माँ की बड़ी इज्जत करते हैं लेकिन जब मम्मी ही इतनी बेशर्म हो जाएं कि वो तो हमेशा लंड के चक्कर में ही रहें, तो इसमें बेटे का क्या कसूर … Read more….

लेडीज़ टॉयलेट

मैं एक बार दिल्ली से आगरा जा रहा था। मैं बस में दो वाली सीट पर जा कर बैठ गया। सर्दियों के दिन थे, बस खली पड़ी थी। अचानक एक मुस्लिम परिवार बस में चढ़ गया, वो कोई 12-14 जन थे। मेरे बगल वाली सीट पर एक 18-19 साल की लड़की बुर्के में आ कर … Read more….