सेक्स के 7 दिन

उसने मेरी ब्रा की स्ट्रिप भी कंधे से हटा दी और चूमने लगा , उसने अपना एक हाथ मरी टीशर्ट के अंदर डाल दिया मैन उसे हटाते हुए मना किया नही अंदर मत डालो हाथ। वो बोला दीदी अभी सोते समय तो रखा ही था अंदर हाथ करने दो प्लीज, उसने मेरे हाथ पर चूमना शुरू किया और स्तनों को दबाया, और फिर अपने दोनों हाथ मेरी टीशर्ट के अंदर डाल दिये और मेरे स्तनों को अंदर से ही दबाने लगा। मैं भी अब उत्तेजित होने लगी, पर होश में थी।

उसने टीशर्ट को ऊपर कर दिया और पेट पर बुरी तरह चूमने लगा। मैन उसे हटाया और टीशर्ट नीचे की और कहा मैन कहा था कि कपड़ो के ऊपर से ही जो करना है करो। तुम टीशर्ट ऊपर कर रहे हो। उसने मुझे चूमा और बोला दीदी प्लीज टीशर्ट ही तो ऊपर की थी,
करने दो न, उसने मुझे फिर चूमा होठ पर और मेरे स्तनों को दबाने लगा टीशर्ट के ऊपर से ही वो अपना मुंह मेरे स्तनों में घुसा दे रहा था, उसका मासूम सा चेहरा देख कर मैं उत्तेजित हो रही थी, दीवाना पन तो मुझे तब ही मासूस होने लगा था जब उससे मैने गाना सुना था दिन में।

उसने फिर से मेरी टीशर्ट ऊपर कर दी और मेरे पेट पर चूमन लगा। मैं बहुत उत्तेजित हो रही थी मेरी सांसे तेज़ होने लगी मुँह से मेरे आहें निकलने लगीं। उसने मेरी टीशर्ट मेरे स्तनों के ऊपर गले तक कर दी और मेरी ब्रा दिखने लगी वो अब मेरी ब्रा के ऊपर से ही मेरे स्तनों को चूमने लगा और दबाने लगा मेरे मुंह से आह और सिकरियाँ निकलने लगीं।

उसने मुझसे कहा टीशर्ट उतार दो , मैं उस समय इतनी अधिक उत्तेजित हो गई थी कि न चाहते हुए भी उसे मना नही कर पाई उसने मुझे उठने को बोला मैं उठ के बैठ गई और उसने मेरी टीशर्ट ऊपर की ओर खिंची मैन भी हाथ ऊपर कर दिए और उसने मेरी टीशर्ट उत्तर दी।

अब मैं उसके सामने ब्रा में थी उसने ज़ोर से मुझे चूमा होठ पर और मुझे बाहों में भर लिया और मेरे कंधों पर चूमने लगा। उसकी सांसे बहुत तेज़ चल रही थी, तभी उसने पीछे से मेरी ब्रा के हुक भी खोल दिये। मैने उससे कहा प्लीज ब्रा मत निकालो उसने नही सुना और ब्रा हटा के मेरे स्तनों के ऊपर हाथ फेरने लगा, और बोला दीदी आपके स्तन कितने प्यारे है ये कहते हुए उसने मेरे दाहिने स्तन को मुँह में भर लिया और चूसने लगा और बायां स्तन हाथ से दबाने लगा।

Antarvasna Hindi sex story – मेरी पड़ोसन जिया

थोड़ी देर चूसने के बाद उसने बायां स्तन चूसा, मेरी मदहोशी बढ़ती ही जा रही थी। न चाहते हुए भी मैं उसको सब करने दे रही थी मुझे पता नही कैसी मदहोशी छा गई थी। उसने अपनी शर्ट उत्तर दी और मेरी ब्रा को मेरे तन से पूरी तरह हटा दिया मुझे लिटा कर वो मेरे ऊपर आ गया उसका सीना मेरे स्तनों से चिपक गया था और वो मुझे बुरी तरह चुम रहा था जल्दी जल्दी होठ पर गले पर कंधे पर स्तनों पर पेट पर, हर जगह, उसने मुझे चूमा मैं ऊपर से पूरी नंगी उसके नीचे पड़ी थी और उत्तेजित हो रही थी।

मेरी सांसे तेज़ी से चल रही थी, अब उसने मेरा लोअर नीचे करना शुरू किया। मैने उसे रोका और कहा प्लीज् इतना बहुत है, अब रहने दो, लोअर मत उतारो सब गलत हो जाएगा । उसने कहा भरोसा रखो कुछ गलत नही करूंगा बस लोअर उतारूंगा पैंटी नही।

मैने कहा नही उसने फिर मुझे चूमा और कहा कुछ नही होगा परेशान मत हो। और उसने मेरा लोअर नीचे खिसका दिया और अलग कर दिया मेरे शरीर से। अब मैं उसके सामने
केवल पैंटी में थी अब उसने भी अपना लोअर उतार दिया और अपना अंडर वियर भी वो मेरे सामने बिल्कुल नंगा था और मैं केवल पैंटी में उसके सामने लेटी थी।

मैं पहली बार किसी लड़के के साथ इस हालत में थी, और सोंचने लगी कि मैं ये सब क्या कर रही हूँ? उसके लिंग को देख कर मैं हैरान हो गई वो काफी बड़ा और मोटा था, सोचने लगी कि जिसको मैं मासूम और क्यूट समझती थी वो तो बिल्कुल अलग है।

वो सीधा मेरे ऊपर लेट गया और मुझे चूमने लगा मेरे स्तनों को बारी बारी से पीने लगा, मैं उत्तेजित होती जा रही थी उसका लिंग मेरी पैंटी के ऊपर से ही मेरी योनि में घुसा जा रहा था वो बहुत टाइट था।

तभी उसने मेरा पेट चूमना शुरू किया और अपना एक हाथ मेरी पैंटी में डाल दिया मैन उसे रोकने के लिए हाथ बढ़ाया लेकिन तबतक उसके हाथ की उंगलियां मेरी योनि पर थीं। मैन उसका हाथ खिंचते हुए कहा प्लीज अब ये मत करो उसने मेरी नही सुनी और मेरी योनि के बीच मे अपनी उंगली रगड़नी शुरू कर दी में सीईईई की आवाज़ करने लगी आहें भरने लगी मेरी योनि गीली पहले ही हो चुकी थी उसकी उंगली लगने से वो और गीली होने लगी, मैं है भगवान ससीईईई ऐसे सिकरियाँ लेने लगी मुझे बहुत अच्छा लग रहा था, उसने फिर पैंटी उतारनी चाही।

मैं उठ कर बैठ गई और अपनी पैंटी पकड़ ली, और रुआंसी हो कर बोली देखो मैने तुमसे सब ऊपर से करने को बोला था पर तुमने मेरे सारे कपड़े उतार दिए अब मैं तुम्हारे सामने पूरी नंगी हो चुकी हूं बस पैंटी बाकी है उतारना, प्लीज् इसे मत उतारो।

वो मुझसे जबरदस्ती करने लगा और पैंटी को नीचे खींचने लगा। मैने उसे हटाया और कहा बात मानो मेरी प्लीज और मैं रोने लगी मेरी आँखों से आंसू आ गए। तब मैंने रोते हुए उससे कहा तुमको मेरी योनि में अपना लिंग डालना है न? तो शिवांश ने कहा हाँ पर तुम रो मत दीदी, मैने गुस्से में कहा मुझे दीदी मत कहो अब दीदी के साथ कोई ये सब नही करता है। उसने मुझे माथे पर चूमा और बोला आई लव
यू।

Antarvasna Hindi sex story – कुसुम की झांट की सफाई

और मुझे लिटा दिया और चूमने लगा। और बोला मैं तुम्हारी पैंटी नही उतारूंगा, उसने फिर मुझे चुम कर उत्तेजित किया और स्तनों को पिया मैं फिर उत्तेजित हो गई । जब मेरी उत्तेजना के कारण आहें निकलने लगी तब उसने फिर पैंटी में हाथ डाल दिया और योनि में उंगली रगड़ने लगा मेरी तो हालात ही खराब हो गई ।

उसने फिर पैंटी उतारने की कोशिश की मैं फिर उठ कर बैठ गई और बोली प्लीज् मेरी पैंटी मत उतारो , तुमको अगर करना है तो पैंटी के ऊपर से ही कर लो। वो मान गया उसने मेरी योनि पर पैंटी के ऊपर से ही अपना लिंग लगाया और मुझपर लेट गया फिर अपनी कमर को हिलाने लगा, उसका लिंग पैंटी के ऊपर से ही मेरी योनि पर अच्छा खासा दबाव डाल रहा था…

मैं उसके लिंग को अपनी योनि पर महसूस कर के पागल हुई जा रही थी, और अपनी कमर को उठा कर उसका साथ दे रही थी। मुझे मज़ा आ रहा था उसने जोर से झटके लगाने शुरू किए कम से कम 50 बार झटके लगाए होंगे और फिर वो मेरे ऊपर निढाल सा पड़ गया।

मुझे पैंटी पर गीला गीला महसूस होने लगा थोड़ी देर में वो मेरे ऊपर से हट गया मैने देखा उसका वीर्य मेरी पैंटी के ऊपर फैल गया था, मैं
उठ कर बाथरूम में गई और मैंने अपनी योनि साफ की और पैंटी बदली । जब मैं वापस कमरे में आई तो शिवांश भी बाथरूम में गया और फिर वापस कमरे में आ गया मैन तबतक अपनी ब्रा पहन ली थी और अपनी शर्ट पहनने जा रही थी कि तभी शिवांश ने कहा,
टीशर्ट मत पहनो दीदी ऐसे ही मेरे साथ सो जाओ न , उसने मुझे प्यार से चूमा और आई लव यू बोला में कुछ नही बोली और वैसे ही उसके साथ सो गई।

मुझे उससे सन्दर ही अंदर प्यार होने लगा था।

अगला भाग बाद में।

Leave a Comment

8 + twelve =