livedosti.com

मेरी बहन कि सहेली

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम संदीप है और मै इंदौर का रहने वाला हूं। ये कहानी मेरी खुद की है जो आज से चार महीने पहले की है। ये बात मेरी बहन के शादी की है। उसकी शादी में उसकी कई सहेलियां आयी थी। उनमें से एक मेरे कॉलेज की जूनियर भी थी। वो मुझे बार बार देख रही थी। कॉलेज में मेरी उस से कभी बात नहीं हुई थी। उसका नाम स्नेहा था। वो दिखने में काफी खूबसूरत थी। उसका फिगर 34-30-36 ही होगा मेरे ख्याल से। Indian desi sex blogs me chut chudai ki xossip kahaniya.

वो मुझे देख कर मुस्कुराने लगी तो मैने भी एक स्माइल दी। शादी में मेरी बहन का सारा सामान मेरे जिम्मे ही था और स्नेहा भी उसी के साथ थी तो मेरी उस से बात चालू हो गई।

वो हर काम के लिए मुझे बुलाती थी और मै उसे कई बार गलत छू चुका था कभी जान कर तो कभी अनजाने में। उसने ये सब एक कातिल सी मुस्कान में टाल दिया। अभी तक मेरे दिमाग में उसे चोदने का ख्याल नहीं था क्युकी वो मेरी बहन कि सहेली थी।

पर जब पार्टी के टाइम मै अपनी बहन के कमरे में उसे बुलाने गया तो स्नेहा भी वही तैयार ही रही थी। उसने लहंगा पहना था। ब्लाउज सिर्फ दो डोरियों पर टिका था पीछे से। लाल रंग का ब्लाउज और काले रंग का लहंगा। क्या कयामत थी वो। उस समय जब वो झुकी तो उसके बूब्स भी नजर आए क्या लग रहे थे। मन हुआ के थी चोद दू इसे। indian sex blogs desi.

पर मैने फिर उस से पूछा कि, “बहन कहा है”

स्नेहा ने कहा, “बाथरूम में है आ रही है”

मैने कहा, “तुम भी बहुत खूबसूरत लग रही हो आज”

उसने कहा, “आप भी कुछ कम नहीं लग रहे”

मैने कहा, “कोई भी फिदा हो जाएगा तुम पे आज तो जरा बच के रहना”

उसने कहा, “आप हुए क्या” और आंख मारी मैने कहा “इंसान हूं क्यों ना होऊंगा” और उसके करीब चला गया।

मैने धीरे से हाथ उसकी कमर पर रखा।

स्नेहा, “क्या कर रहे हो”

मै “सच में फिदा हो गया हूं” कहकर उसकी कमर सहलाने लगा। इतने में बाथरूम का दरवाजा भा तो मैं दूर हट गया।

स्नेहा, “डर गए क्यों” धीरे से बोली

मै, “अभी रुको बताता हूं”

मै उन दोनों को जल्दी आने का कह कर बाहर आगया।

पार्टी चालू हुई स्नेहा मेरी बहन क साथ थी तो मुझे उसके साथ टाइम नहीं मिल पा रहा था।

मै उसके बूब्स देख कर पागल हो गया था। मै उसे इशारे करने लगा आने के। पर वो बहाने कर रही थी। फिर मैने अपनी बहन क गिफ्ट्स उसके रूम में रखने के बहाने उसे अंदर बुलाया तब वो आई। जैसे वो अंदर आई मैने उसके हाथ को पकड़ कर दरवाजा बन्द कर दिया। और उसे अपनी ओर खींच लिया।

स्नेहा “ये क्या कर रहे हो”

मैं “मैने कहा था ना कोई भी पागल हो जाएगा आज और मै हो गया”

स्नेहा “अरे पर कोई देख लेगा”

मै “देखने दो ” इतना कह कर मैने उसे कमर पर से कसकर पकड़ लिया और अपनी तरफ खींच लिया।

अब उसके हाथ मेरे गले पर थे और हमारी सांसे टकरा रही थी।

मैने मोके का फायदा उठा कर उसे किस कर दिया। अचानक के किस से वो घबरा गई पर उसे भी यही चाहिए था।

हम दोनों एक दूसरे का साथ देने लगे। वो मेरे बालों से खेलने लगी और में उसकी पीठ से।

मैने उसके ब्लाउस के डोरियां खोल दी। उसने मेरे कपड़े उतार दिए। हम दोनों जल्दी से एक दूसरे के होना चाहते थे। मै उसका हाथ मेरे लन्ड पर ले गया। वो पेंट के उपर से ही उसे सहलाने लगी। मै उसके बूब्स दबाने लगा। और उस बेड पर लेटा दिया। मैने अपना पेंट उतार दिया और उसका लहंगा भी। हम दोनों अब पर नंगे थे। उसकी नज़रे मेरे लन्ड पर थी। मै फिर उसे किस करने लगा। वो मेरे लन्ड से खेल रही थी। blogs desi sex

एक हाथ मेरा उसके बूब्स पर था। मै उन्हें मसल रहा था। मैने उसके बूब्स चूसने चालू किया। वो सिसकियां लेने लगी। कमरे में आह ह हह ह ह इस स सस की आवाजें गूंजने लगी। मै उसके बड़े बड़े चूचे चूस रहा था और वो सिसकियां ले रही थी।

मैने एक हाथ उसकी चूत पर रखा वो सहम सी गई। एक दम मखमली थी उसकी चूत। मै उसे चाटने लगा। वो “आ आह आह ह संदीप यस सस कम ऑन यस स आह ह ह ह स स संदीप ” कह कर मुझे पागल कर रही थी। अब मैने उसे अपना लन्ड मुंह में दिया। उसने बिना नखरे किए उसे चूसना चालू किया। लॉलीपॉप की तरह वो मेरे लन्ड को चूस रही थी सच में जैसे उसे एक्सपीरिएंस हो।

अब उसकी चूत की बारी थी।

मैने अपने लन्ड को उसकी चूत पर सेट किया और एक बार में ही अंदर कर दिया। वो चीख उठी। तो मैने उसके बूब्स दबाने चालू किए और किस करने लगा। थोड़ी देर बाद वो अपनी कमर उपर नीचे करने लगी। फिर मैने उसे चोदना चालू किया।

वो “आह ह ह ह यस स स ये ए ए ई ई ई” करने लगी

साथ में उसकी चूत से फ़्च फ़्च की आवाज आने लगी। करीब पन्द्रह – बीस मिनट के बाद वो झड़ गई पर मेरा अभी चल रहा था थोड़ी देर में मैं भी उसकी चूत में झड गया।
मैने फिर उसे किस करना चालू किया और उसकी गान्ड मसलने लगा। और बूब्स चूसने लगा।

अब मैने उसे घोड़ी बना कर उसकी गान्ड में लन्ड डाला। इस बार उसे और मज़ा आने लगा। मै उसके बूब्स दबाने लगा। और वो गान्ड हिला रही थी। इस बार भी मै अंदर ही झड गया। हम थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहे। और एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा रहे थे। पूरी रात में वो तीन बार चुदाने आई। sex blogs desi choot chudai.

उसके बाद मैने उसे कॉलेज के लाइब्रेरी में भी चोदा।

किसी लगी आपको मेरी कहानी मुझे मेल पर जरूर बताएं।